Home » गुरुवाणी शब्द कीर्तन: माधो हम ऐसे, तू ऐसा – Gurubani Shabad Kirtan: Madho Hum Aise Tu Aisa | भारत की अग्रणी गीत गीत साइट

गुरुवाणी शब्द कीर्तन: माधो हम ऐसे, तू ऐसा – Gurubani Shabad Kirtan: Madho Hum Aise Tu Aisa | भारत की अग्रणी गीत गीत साइट

by Brahma Aditya

गुरुवाणी शब्द कीर्तन: माधो हम ऐसे, तू ऐसा – Gurubani Shabad Kirtan: Madho Hum Aise Tu Aisa | गाने के बोल हर दिन अपडेट होते हैं


हम पापी तुम पाप खंडन
नीको ठाकुर देसा
माधो माधो.. माधो माधो..
हम ऐसे तू ऐसा

हम मैले तुम ऊजल करते
हम निर्गुण तू दाता
हम मूर्ख तुम चतुर सयाणे
तुम चतुर सयाणे तुम चतुर सयाणे
तू सरब कला का ज्ञाता
माधो माधो.. माधो माधो..
हम ऐसे तू ऐसा
माधो हम ऐसे तू ऐसा

हम पापी, तुम पाप खण्डन
नीको ठाकुर देसा
माधो माधो.. माधो माधो..
माधो हम ऐसे तू ऐसा

तुम सभ साजे साज निवाजे
जीओ पिण्ड दे प्राना
निर्गुणियारे गुण नहीं कोई
गुण नहीं कोई.. गुण नहीं कोई..

हम अवगुण भरे, एक गुण नाही
एक गुण नाही.. एक गुण नाही..
अमृत छाड बिखै बिख खाई
माया मोह भरम पै भूले
सुत दारा सियो प्रीत लगाई
इक उत्तम पंथ सुनेओ गुर संगत
तिह मिलंत जम त्रास मिटाई

इक अरदास भाट कीरत की
गुर रामदास राखहु सरणाई
गुर रामदास.. गुर रामदास..
गुर रामदास.. गुर रामदास..

निर्गुणियारे गुण नहीं कोई
तुम दान देहु मिहरवाना
माधो माधो.. माधो माधो..
हम ऐसे तू ऐसा
माधो हम ऐसे तू ऐसा

तुम करहु भला हम भला न जानह
तुम सदा सदा दयाला
तुम सुखदाई पुरख बिधाते
तुम राखहु अपने बाला

रामैया, हौं बारिक तेरा
रामैया, हौं बारिक तेरा
वाहेगुरु जी, हौं बारिक तेरा
वाहेगुरु जी, हौं बारिक तेरा
काहे न खंडस अवगण मेरा
काहे न खंडस अवगण मेरा

सुत अपराध करत है जेते
जननी चीत न राखस तेते
रामैया, हौं बारिक तेरा
रामैया, हौं बारिक तेरा

तुम राखहु अपने बाला
माधो माधो.. माधो माधो..
माधो माधो.. माधो माधो..

वाहेगुरु वाहेगुरु वाहेगुरु वाहेगुरु (सिमरन)

तुम निधन अटल सुल्तान
जीअ जंत सभ जाचै
धन श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी..

तुम हो सभ राजन के राजा
राजन के राजा महाराजन के महाराजा
राजन के राजा महाराजन के महाराजा
एसो राज छोड और दूजा कौन धियाइए
एसो राज छोड और दूजा कौन धियाइए
राजन के राजा महाराजन के महाराजा
महाराजन के महाराजा
राजान राज, भानान भान
देवान देव, उपमा महान
राजान राज, भानान भान
देवान देव, उपमा महान

तेरे कवन कवन गुण कह कह गावां
तू साहिब गुणी निधाना
तुमरी महिमा बरन न साकौं
तू ठाकुर ऊच भगवाना
धन श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी..
धन श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी..

तुम निधन अटल सुल्तान
जीअ जंत सभ जाचै
कहो नानक हम इहै हवाला
कहो नानक हम इहै हवाला
राख संतन कै पाछै

माधो माधो.. माधो माधो..
माधो माधो.. माधो माधो..
हम ऐसे तू ऐसा
माधो हम ऐसे तू ऐसा

हम पापी तुम पाप खंडन
तुम पाप खंडन.. तुम पाप खंडन..

धन श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी..
तुम पाप खंडन.. तुम पाप खंडन..
नीको ठाकुर देसा
माधो माधो.. माधो माधो..
माधो हम ऐसे तू ऐसा

हम पापी तुम पाप खंडन
नीको ठाकुर देसा
माधो माधो.. माधो माधो..
हम ऐसे तू ऐसा
वाहेगुरु जी हम ऐसे तू ऐसा

यह भी जानें

पंजाबी रूप

ਹਮ ਮੈਲੇ ਤੁਮ ਊਜਲ ਕਰਤੇ ਹਮ ਨਿਰਗੁਨ ਤੂ ਦਾਤਾ ॥
ਹਮ ਮੂਰਖ ਤੁਮ ਚਤੁਰ ਸਿਆਣੇ ਤੂ ਸਰਬ ਕਲਾ ਕਾ ਗਿਆਤਾ ॥੧॥

ਮਾਧੋ ਹਮ ਐਸੇ ਤੂ ਐਸਾ ॥
ਹਮ ਪਾਪੀ ਤੁਮ ਪਾਪ ਖੰਡਨ ਨੀਕੋ ਠਾਕੁਰ ਦੇਸਾ ॥ ਰਹਾਉ ॥
ਤੁਮ ਸਭ ਸਾਜੇ ਸਾਜਿ ਨਿਵਾਜੇ ਜੀਉ ਪਿੰਡੁ ਦੇ ਪ੍ਰਾਨਾ ॥
ਨਿਰਗੁਨੀਆਰੇ ਗੁਨੁ ਨਹੀ ਕੋਈ ਤੁਮ ਦਾਨੁ ਦੇਹੁ ਮਿਹਰਵਾਨਾ ॥੨॥

ਤੁਮ ਕਰਹੁ ਭਲਾ ਹਮ ਭਲੋ ਨ ਜਾਨਹ ਤੁਮ ਸਦਾ ਸਦਾ ਦਇਆਲਾ ॥
ਤੁਮ ਸੁਖਦਾਈ ਪੁਰਖ ਬਿਧਾਤੇ ਤੁਮ ਰਾਖਹੁ ਅਪੁਨੇ ਬਾਲਾ ॥੩॥

ਤੁਮ ਨਿਧਾਨ ਅਟਲ ਸੁਲਿਤਾਨ ਜੀਅ ਜੰਤ ਸਭਿ ਜਾਚੈ ॥
ਕਹੁ ਨਾਨਕ ਹਮ ਇਹੈ ਹਵਾਲਾ ਰਾਖੁ ਸੰਤਨ ਕੈ ਪਾਛੈ ॥੪॥੬॥੧੭॥

Bhajan Guru BhajanGuru Purnima BhajanGuru Nanak Jayanti BhajanShabad Kirtan BhajanGurbani BhajanKripa BhajanPunjabi BhajanSikhism BhajanGuru Gobind Singh Jayanti BhajanBhai Anantvir Singh Bhajan

अन्य प्रसिद्ध माधो हम ऐसे, तू ऐसा – शब्द कीर्तन वीडियो

Shree Hita Ambrish Ji

अगर आपको यह भजन पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!


इस भजन को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites


* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें।

और भी बेहतरीन गाने के बोल यहां देखें: यहां देखें

विषय से संबंधित खोजें गुरुवाणी शब्द कीर्तन: माधो हम ऐसे, तू ऐसा – Gurubani Shabad Kirtan: Madho Hum Aise Tu Aisa

#गरवण #शबद #करतन #मध #हम #ऐस #त #ऐस #Gurubani #Shabad #Kirtan #Madho #Hum #Aise #Aisa

गुरुवाणी शब्द कीर्तन: माधो हम ऐसे, तू ऐसा – Gurubani Shabad Kirtan: Madho Hum Aise Tu Aisa

हम आशा है कि यह जानकारी आपके लिए बहुत उपयोगी मूल्य लेकर आई है।

आपका बहुत बहुत धन्यवाद

0 comment

You may also like

Leave a Comment