Home » भजन: इतना तो करना स्वामी, जब प्राण तन से निकले – Bhajan: Itna to Karna Swami Jab Pran Tan Se Nikle | भारत की अग्रणी गीत गीत साइट

भजन: इतना तो करना स्वामी, जब प्राण तन से निकले – Bhajan: Itna to Karna Swami Jab Pran Tan Se Nikle | भारत की अग्रणी गीत गीत साइट

by Brahma Aditya

भजन: इतना तो करना स्वामी, जब प्राण तन से निकले – Bhajan: Itna to Karna Swami Jab Pran Tan Se Nikle | गाने के बोल हर दिन अपडेट होते हैं


Add To Favorites

इतना तो करना स्वामी,
जब प्राण तन से निकले
गोविन्द नाम लेकर,
फिर प्राण तन से निकले ॥

श्री गंगा जी का तट हो,
यमुना का वंशीवट हो,
मेरा सांवरा निकट हो,
जब प्राण तन से निकले,
इतना तों करना स्वामी जब प्राण ॥

पीताम्बरी कसी हो,
छवि मन में यह बसी हो,
होठों पे कुछ हसी हो,
जब प्राण तन से निकले,
इतना तों करना स्वामी जब प्राण ॥

श्री वृन्दावन का स्थल हो,
मेरे मुख में तुलसी दल हो,
विष्णु चरण का जल हो,
जब प्राण तन से निकले,
इतना तों करना स्वामी जब प्राण ॥

जब कंठ प्राण आवे,
कोई रोग ना सतावे,
यम दर्शना दिखावे,
जब प्राण तन से निकले,
इतना तो करना स्वामि जब प्राण ॥

उस वक़्त जल्दी आना
नहीं श्याम भूल जाना
राधा को साथ लाना
जब प्राण तन से निकले
इतना तों करना स्वामि जब प्राण ॥

सुधि होवे नाही तन की,
तैयारी हो गमन की,
लकड़ी हो ब्रज के वन की,
जब प्राण तन से निकले,
इतना तो करना स्वामि जब प्राण ॥

एक भक्त की है अर्जी,
खुदगर्ज की है गरजी,
आगे तुम्हारी मर्जी,
जब प्राण तन से निकले,
इतना तो करना स्वामि जब प्राण ॥

ये नेक सी अरज है,
मानो तो क्या हरज है,
कुछ आप का फरज है,
जब प्राण तन से निकले,
इतना तो करना स्वामी जब प्राण ॥

यह भी जानें

Bhajan Shri Krishna BhajanBhrij BhajanBal Krishna BhajanLaddu Gopal BhajanBhagwat BhajanJanmashtami BhajanShri Shyam BhajanIskcon BhajanPhagun Mela BhajanRadhashtami BhajanJagjit Singh Bhajan

अगर आपको यह भजन पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!


इस भजन को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites


* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें।

और भी बेहतरीन गाने के बोल यहां देखें: https://1.sotailoc.com/lyric/

विषय से संबंधित खोजें भजन: इतना तो करना स्वामी, जब प्राण तन से निकले – Bhajan: Itna to Karna Swami Jab Pran Tan Se Nikle

#भजन #इतन #त #करन #सवम #जब #परण #तन #स #नकल #Bhajan #Itna #Karna #Swami #Jab #Pran #Tan #Nikle

भजन: इतना तो करना स्वामी, जब प्राण तन से निकले – Bhajan: Itna to Karna Swami Jab Pran Tan Se Nikle

https://1.sotailoc.com आशा है कि यह जानकारी आपके लिए बहुत उपयोगी मूल्य लेकर आई है।

आपका बहुत बहुत धन्यवाद

0 comment

You may also like

Leave a Comment