Home » भजन: करनल करुणा-सिंधु कहावै – Bhajan Mata Pyara Saja Hai Tera Dwar Bhawani | भारत की अग्रणी गीत गीत साइट

भजन: करनल करुणा-सिंधु कहावै – Bhajan Mata Pyara Saja Hai Tera Dwar Bhawani | भारत की अग्रणी गीत गीत साइट

by Brahma Aditya

भजन: करनल करुणा-सिंधु कहावै – Bhajan Mata Pyara Saja Hai Tera Dwar Bhawani | गाने के बोल हर दिन अपडेट होते हैं


करनल करुणा-सिंधु कहावै - भजन
Add To Favorites

देवी मढ़ देसाण री,
मेह दुलारी माय ।
गरज सकव गजराज री,
सारै नित सुरराय ॥

करनल करुणा-सिंधु कहावै
म्हां पर नित किरपा बरसावै
करनल करुणा-सिंधु कहावै

सुमिरंतां सुरराय सहायक,
मन सांसो मिटवावै ।
दरस कियां दुख दाळद मेटै,
पद परस्यां दुलरावै ॥
मैया चरण सरण बगसावै
करनल करुणा-सिंधु कहावै

अंतस पीड़ पिछाणै अंबा,
बिन सिमर्यां बतळावै ।
दूजो देव और कुण धरणी,
करणी जोड़ै आवै ।
अंबे भव दुख दूर भगावै
करनल करुणा-सिंधु कहावै

परचा है अणमाप प्रथी पर,
सबदां जो न समावै ।
घर घर जोत दीपै जगदंबा,
सेवक छंद सुणावै ।
सुण कर अंबा दौड़ी आवै
करनल करुणा-सिंधु कहावै

माथै हाथ ऱखावै मायड़,
सत री राह चलावै ।
कवि ‘गजराज’ बखाणै कीरत,
गायक रुच रुच गावै ।
करणी सुख संपत बगसावै
करनल करुणा-सिंधु कहावै

यह भी जानें

Bhajan Maa Durga BhajanMata BhajanNavratri BhajanDurga Puja BhajanMaa Durga BhajanJagran BhajanMata Ki Chauki BhajanShukravar BhajanFriday BhajanKarni Mata Chirja BhajanKarni Mata BhajanSatish Dehra BhajanRajasthani Bhajan

अगर आपको यह भजन पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!


इस भजन को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites


* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें।

और भी बेहतरीन गाने के बोल यहां देखें: https://1.sotailoc.com/Lyric

विषय से संबंधित खोजें भजन: करनल करुणा-सिंधु कहावै – Bhajan Mata Pyara Saja Hai Tera Dwar Bhawani

#भजन #करनल #करणसध #कहव #Bhajan #Mata #Pyara #Saja #Hai #Tera #Dwar #Bhawani

भजन: करनल करुणा-सिंधु कहावै – Bhajan Mata Pyara Saja Hai Tera Dwar Bhawani

https://1.sotailoc.com/ आशा है कि यह जानकारी आपके लिए बहुत उपयोगी मूल्य लेकर आई है।

आपका बहुत बहुत धन्यवाद

0 comment

You may also like

Leave a Comment