Home » भजन: तूने सिर पे धरा जो मेरे हाथ के अब तेरा साथ नहीं छूटे – Bhajan: Tune Sir Pe Dhara Jo Mere Hath Ke Ab Tera Sath Nahi Chute | भारत की अग्रणी गीत गीत साइट

भजन: तूने सिर पे धरा जो मेरे हाथ के अब तेरा साथ नहीं छूटे – Bhajan: Tune Sir Pe Dhara Jo Mere Hath Ke Ab Tera Sath Nahi Chute | भारत की अग्रणी गीत गीत साइट

by Brahma Aditya

भजन: तूने सिर पे धरा जो मेरे हाथ के अब तेरा साथ नहीं छूटे – Bhajan: Tune Sir Pe Dhara Jo Mere Hath Ke Ab Tera Sath Nahi Chute | गाने के बोल हर दिन अपडेट होते हैं


Add To Favorites

तूने सिर पे धरा जो मेरे हाथ,
के अब तेरा साथ नहीं छूटे,
मेरा तुम पे रहे विश्वास,
के अब तेरा साथ नहीं छूटे,
तूने सर पे धरा जो मेरे हाथ,
के अब तेरा साथ नहीं छूटे ॥

इक दौर था वो जीवन का मेरे,
जब अपने किनारा कर बैठे,
कांधा भी ना था रोने को कोई,
देखे हैं समय ऐसे ऐसे,
फिर तुमसे हुई मुलाकात,
के अब तेरा साथ नहीं छूटे
मेरा तुम पे रहे विश्वास,
के अब तेरा साथ नहीं छूटे,
तूने सर पे धरा जो मेरे हाथ,
के अब तेरा साथ नहीं छूटे ॥

तूफानों में कश्ती थी मेरी,
कहीं कोई किनारा ना सूझा,
फिर किसने निकाला तूफां से,
इक इक ने बाद में ये पूछा,
मैंने ले लिया तेरा नाम,
के अब तेरा साथ नहीं छूटे
मेरा तुम पे रहे विश्वास,
के अब तेरा साथ नहीं छूटे,
तूने सर पे धरा जो मेरे हाथ,
के अब तेरा साथ नहीं छूटे ॥

अब तो बस एक तमन्ना है,
तेरे चरणों का मैं दास बनूँ,
नहीं चिंता कोई फ़िक्र हो मुझे,
‘हरी’ तेरी शरण में सदा रहूं,
रहे कृपा की बरसात,
के अब तेरा साथ नहीं छूटे
मेरा तुम पे रहे विश्वास,
के अब तेरा साथ नहीं छूटे,
तूने सर पे धरा जो मेरे हाथ,
के अब तेरा साथ नहीं छूटे ॥

तूने सिर पे धरा जो मेरे हाथ,
के अब तेरा साथ नहीं छूटे,
मेरा तुम पे रहे विश्वास,
के अब तेरा साथ नहीं छूटे,
तूने सर पे धरा जो मेरे हाथ,
के अब तेरा साथ नहीं छूटे ॥

यह भी जानें

Bhajan Shri Krishna BhajanBhrij BhajanBal Krishna BhajanLaddu Gopal BhajanBhagwat BhajanJanmashtami BhajanShri Shyam BhajanIskcon BhajanPhagun Mela BhajanRadhashtami Bhajan

अगर आपको यह भजन पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!


इस भजन को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites


* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें।

और भी बेहतरीन गाने के बोल यहां देखें: https://1.sotailoc.com/lyric/

विषय से संबंधित खोजें भजन: तूने सिर पे धरा जो मेरे हाथ के अब तेरा साथ नहीं छूटे – Bhajan: Tune Sir Pe Dhara Jo Mere Hath Ke Ab Tera Sath Nahi Chute

#भजन #तन #सर #प #धर #ज #मर #हथ #क #अब #तर #सथ #नह #छट #Bhajan #Tune #Sir #Dhara #Mere #Hath #Tera #Sath #Nahi #Chute

भजन: तूने सिर पे धरा जो मेरे हाथ के अब तेरा साथ नहीं छूटे – Bhajan: Tune Sir Pe Dhara Jo Mere Hath Ke Ab Tera Sath Nahi Chute

https://1.sotailoc.com/ आशा है कि यह जानकारी आपके लिए बहुत उपयोगी मूल्य लेकर आई है।

आपका बहुत बहुत धन्यवाद

0 comment

You may also like

Leave a Comment