Home » शिव भजन: महाकाल गंगाधर मेरे – Mahakal Gangadhar Mere | भारत की अग्रणी गीत गीत साइट

शिव भजन: महाकाल गंगाधर मेरे – Mahakal Gangadhar Mere | भारत की अग्रणी गीत गीत साइट

by Brahma Aditya

शिव भजन: महाकाल गंगाधर मेरे – Mahakal Gangadhar Mere | गाने के बोल हर दिन अपडेट होते हैं


Add To Favorites

अब कोई ना सहारा बिन तेरे,
महाकाल गंगाधर मेरे ॥

तूने लाखों पापी तारे है,
नहीं गुण और दोष विचारे है,
मैं भी आन पड़ा दर तेरे,
मैं भी आन पड़ा दर तेरे,
महाकाल गंगाधर मेरे,
अब कोईं न सहारा बिन तेरे,
महाकाल गंगाधर मेरे ॥

विषयो के जाल में फसकर के,
झूठी उल्फत में धंसकर के,
दुःख पाए नाथ घनेरे,
दुःख पाए नाथ घनेरे,
महाकाल गंगाधर मेरे,
अब कोईं न सहारा बिन तेरे,
महाकाल गंगाधर मेरे ॥

तू दीन बंधू हितकारी है,
हम दुखिया शरण तिहारी है,
हम दीन हिन है तेरे,
हम दीन हिन है तेरे,
महाकाल गंगाधर मेरे,
अब कोईं न सहारा बिन तेरे,
महाकाल गंगाधर मेरे ॥

भक्त तेरी शरण में आया है,
आके चरणों में शीश झुकाया है,
काटो जनम मरण के फेरे,
काटो जनम मरण के फेरे,
महाकाल गंगाधर मेरे,
अब कोईं न सहारा बिन तेरे,
महाकाल गंगाधर मेरे ॥

अब कोई ना सहारा बिन तेरे,
महाकाल गंगाधर मेरे ॥

यह भी जानें

Bhajan Shiv BhajanBholenath BhajanMahadev BhajanShivaratri BhajanSavan BhajanMonday BhajanSomvar BhajanSolah Somvar BhajanJyotirling BhajanShiv Vivah Bhajan

अगर आपको यह भजन पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!


इस भजन को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites


* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें।

और भी बेहतरीन गाने के बोल यहां देखें: https://1.sotailoc.com/lyric/

विषय से संबंधित खोजें शिव भजन: महाकाल गंगाधर मेरे – Mahakal Gangadhar Mere

#शव #भजन #महकल #गगधर #मर #Mahakal #Gangadhar #Mere

शिव भजन: महाकाल गंगाधर मेरे – Mahakal Gangadhar Mere

हम आशा है कि यह जानकारी आपके लिए बहुत उपयोगी मूल्य लेकर आई है।

आपका बहुत बहुत धन्यवाद

0 comment

You may also like

Leave a Comment